हिंदी फिल्मों में चॉकलेटी हीरो के नाम से प्रसिद्ध विनोद मेहरा का आज जन्मदिवस है, दो अफेयर और रेखा से सीक्रेट मैरिज

मनोरंजन

हिंदी फिल्मों में चॉकलेटी हीरो के नाम से प्रसिद्ध विनोद मेहरा का आज जन्मदिवस है। अभिनेमा का जन्म आज ही के दिन सन 1945 में लाहौर में हुआ था। अभिनेता ने अपने तीन दशक के लंबे करियर में 100 से भी ज्यादा फिल्मों में अभिनय किया।

विनोद मेहरा ने अपने दौर की हर बड़ी हीरोइन के साथ काम किया। लेकिन, सबसे ज्यादा फिल्में बॉलीवुड एक्ट्रेस रेखा के साथ कीं। इन फिल्मों के दौरान दोनों में नजदीकियां बढ़ती चली गईं और एक-दूसरे से मोहब्बत होती चली गई। बात इतनी बढ़ गई कि शादी तक जा पहुंची। परंतु, वे रेखा को कभी भी अपनी पत्नी होने का दर्जा नहीं दे पाए। क्यों? आइए जानते हैं…

कहा जाता है कि विनोद मेहरा और रेखा शादी के बंधन में बंधे जरूर थे लेकिन, दोनों में से किसी ने भी इस बात का सार्वजनिक रूप से ऐलान नहीं किया था। यूं तो दोनों के इश्क के किस्सों से बॉलीवुड की गलियां गुलजार हुआ करती थीं। लेकिन, पुष्टि तब हुई जब लेखक यासीर उस्मान ने अपनी किताब ‘रेखाः एन अनटोल्ड स्टोरी’ में इस बात का जिक्र किया। उनकी किताब के मुताबिक, विनोद मेहरा ने कोलकाता में एक निजी समारोह के दौरान रेखा से शादी की थी और उन्हें अपने घर भी लेकर गए थे। लेकिन, उनकी मां को यह बात पसंद नहीं आई और वह रेखा को देख भड़क गईं।

रेखा ने उन्हें शांत करने और उनके पैर छूने की कोशिश की। लेकिन, वह शांत नहीं हुईं। उन्होंने, पहले रखा को धक्का मारकर अपने से दूर किया और फिर चप्पल दे मारी। विनोद मेहरा ने अपनी मां को शांत करने की बहुत कोशिश की। परंतु, जब वे हालात पर काबू नहीं पा पाए तब उन्होंने रेखा को अपने घर चले जाने के लिए कह दिया। उनकी शादी टूट गई और उनके घरवालों ने उनके लिए रिश्ते देखने शुरू कर दिए।

विनोद मेहरा की निजी जिंदगी में उथल-पुथल मची हुई थी। लेकिन, उनकी प्रोफेशनल लाइफ काफी सही चल रही थी। वे एक के बाद एक हिट फिल्म दे रहे थे। तभी उनकी मां ने अपनी पसंद की लड़की से उनकी शादी करवा दी। शादी के कुछ समय बाद विनोद को हार्ट अटैक आया। अभिनेता ने अपनी इस हालत का पूरा जिम्मेदार अपनी दूसरी पत्नी को ठहरा दिया। दोनों के बीच दूरियां आने लगीं।

पत्नी से लड़ाई-झगड़ों के बीच ही विनोद मेहरा का दिल अपनी ही को-स्टार बिंदिया गोस्वामी पर आ गया। दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगीं और कुछ समय बाद विनोद मेहरा ने बिंदिया गोस्वामी से सीक्रेट शादी कर ली। जब दोनों की शादी की खबर आग की तरह फैली तब दूसरी पत्नी मीना ब्रोका ने विनोद मेहरा को धमकियां देना शुरू कर दिया। बिंदिया गोस्वामी डर गईं। उन्होंने अपना घर छोड़ दिया और अलग-अलग होटल्स में रहने लगीं। आखिरकार विनोद मेहरा और धमकियों से परेशान होकर बिंदिया ने जे.पी.दत्ता से शादी कर ली। बिंदिया के इस कदम की वजह से विनोद बेहद परेशान रहने लगे, हालांकि वे अपनी दूसरी पत्नी के पास कभी नहीं लौटे।

दूसरी पत्नी को तलाक देने के बाद विनोद मेहरा ने 1988 में किरण से शादी कर ली। तीन-तीन शादी करने के बाद विनोद मेहरा को किरण के साथ खुशहाल जिंदगी जीने का मौका मिला। हालांकि, शादी के दो साल बाद ही विनोद मेहरा को हार्ट अटैक आया और उनकी मौत हो गई।