क्या आप जानते है क़ि हल्दी वाले दूध को पीने से क्या लाभ होता है जानिए………..

प्रौद्योगिकी-कारोबारी अन्य स्वास्थ्य

रायपुर, 04 अक्टूबर 2023 अक्सर जब हमें चोंट लगती है या सर्दी जुखाम से पीड़ित होते है तब दूध में हल्दी को मिलकर सेवन किया जाता है और कैंसर पीड़ित को भी दूध के साथ हल्दी को मिलाकर पेसेंट को दिया जाता है, दूध बहुत गुणकारी होता है इसमें प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है और हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण पाए जाते है.

हल्दी वाले दूध के सेवन करने से होने वाले फायदे इस प्रकार है

इम्यूनिटी बढ़ाने में एंटीऑक्सीडेंट का बहुत बड़ा योगदान होता है। एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर में बनने वाले फ्री-रैडिकल्स को न्यूट्रलाइज करते हैं और शरीर को होने वाले नुकसानों में रोकथाम करते हैं।  हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है। हल्दी दूध का सेवन आपके शरीर को अंदर से फिट रखने में मददगार होता है। यह शरीर को इंफेक्शन और बाकी बीमारी से लड़ने में मदद करता है। यह आपके शरीर को अंदर से साफ करता है और टॉक्सिन्स को निकाल बाहर करता है।

1.जब सर्दी-जुकाम होता,इसके साथ अक्सर हमें सिरदर्द की भी समस्या होती है। हल्दी में एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। हल्दी जहां हमारे शरीर में जाकर बीमारी पैदा करने वाले कीटाणुओं से लड़ती है, वहीं दूध हमें प्रोटीन देना है जिससे शरीर को ताकत मिलती है। इस तरह हम जुकाम से होने वाले बुखार, सिरदर्द और बदन दर्द से आराम पाते हैं।

नियमित रूप से एक गिलास हल्दी दूध पीने से आपको लिवर की समस्या से आराम मिल सकता है। रोजाना हल्दी दूध पीने से लिवर से टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं। एक रिसर्च में यह साबित हुआ है कि हल्दी में पाए जाने वाला करक्यूमिन शरीर के एंडोथेलियल फंक्शन को सुधारता है। इसका मतलब ये है कि इससे हमारी रक्त धमनियां साफ़ होती हैं और उनमें कोई जमाव नहीं होता। हल्दी में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण रक्त हो साफ़ करते हैं और धमनियों में उनके बहाव को सुचारु रूप से बनाये रखने में मददगार होते हैं।

2.हल्दी दूध में एंटी- माइक्रोबियल और एंटी- इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ये रक्त को साफ करता है और चेहरे पर होने वाले कील मुंहासों, धब्बों, छुर्रियों और झाई से निजात दिलाने में मददगार साबित हो सकता है। ये चेहरे और शरीर की त्वचा में बनने वाले फ्री रैडिकल्स को नष्ट करता है और चेहरे को लम्बे समय तक मुलायम और जवान रखने में मददगार होता है। इस तरह से ये हमारी स्किन को सुरक्षित रखता है और हमें प्राकृतिक रूप से एक चमक और अंदरूनी खूबसूरती देता है।

3.पीरियड्स के दौरान क्रैम्प्स और पेटदर्द बेहद आम हैं। हल्दी दूध क्रैम्प्स की मरोड़ काम करने में मददगार होता है। पीरियड्स के समय हल्दी दूध का सेवन करना पेट और पैरों के दर्द से आराम दिलाने के लिए बेहद फायदेमंद होता है। गर्म हल्दी दूध प्रेगनेंट महिलाओं को दर्द और मरोड़ में आराम देता है। हजारों सालों से महिलाएं करीब 1000 साल से महिलाएं हल्दी दूध के फायदे शिशु के लिए दूध बढ़ाने के लिए और पेट में बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए पीती आ रही हैं। इससे बच्चे का स्वास्थ्य बेहतर होता है और मां के शरीर में दर्द और तकलीफें कम होती हैं।

4.इम्यूनिटी बढ़ाने में एंटीऑक्सीडेंट का बहुत बड़ा योगदान होता है। एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर में बनने वाले फ्री-रैडिकल्स को न्यूट्रलाइज करते हैं और शरीर को होने वाले नुकसानों में रोकथाम करते हैं।  हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है। हल्दी दूध का सेवन आपके शरीर को अंदर से फिट रखने में मददगार होता है। यह शरीर को इंफेक्शन और बाकी बीमारी से लड़ने में मदद करता है। यह आपके शरीर को अंदर से साफ करता है और टॉक्सिन्स को निकाल बाहर करता है।