वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में एसईसीएल ने दर्ज किया रिकॉर्ड 77.78 मिलियन टन कोयला उत्पादन

छत्तीसगढ़ राज्य

ओबीआर एवं ऑफटेक में भी कंपनी ने स्थापना से अब तक के सर्वाधिक आंकड़े को छुआ

एसईसीएल ने वित्तीय वर्ष 23-24 की पहली छमाही (अप्रैल ’23 – सितंबर ‘23) में रिकॉर्ड प्रदर्शन करते हुए 77.78 मिलियन टन कोयला उत्पादन दर्ज किया है। वहीं हाल ही में समाप्त हुए सितंबर महीने में कंपनी ने लगभग 11.14 मिलियन टन कोयला उत्पादन हासिल किया है। कंपनी की स्थापना के बाद से किसी भी सितंबर माह एवं वित्तीय वर्ष की किसी भी पहली छमाही में यह अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन है। पिछले वित्तीय वर्ष 22-23 की पहली छमाही की तुलना में जहाँ कंपनी ने 14.34 मिलियन टन (22.6%) की वृद्धि दर्ज की है वहीं सितंबर 2022 की तुलना में कंपनी ने गत माह में लगभग 2 मिलियन टन (21.60%) अधिक कोयला उत्पादन किया है।

अगर ओवर बर्डन रिमूवल की बात करें तो कंपनी द्वारा सितंबर 2023 को समाप्त छमाही में अब तक का सर्वाधिक 151.28 मिलियन क्यू.मी. ओबीआर दर्ज किया है जोकि पिछले वित्तीय वर्ष की छमाही से 46.51 मिलियन क्यू.मी. (44.39%) अधिक है। कंपनी ने 20.33 मिलियन क्यूबिक मीटर के साथ किसी भी सितंबर माह में ओबीआर का नया रिकॉर्ड बनाया है। पिछले वर्ष सितंबर में कंपनी ने 15.46 मिलियन क्यूबिक मीटर ओबीआर किया था और इस तरह से इस सितंबर माह में कंपनी ने ओबीआर में 31.47% की बढ़ोत्तरी दर्ज की है।

डिस्पैच में भी कंपनी ने इस वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में रिकॉर्ड 86.08 मिलियन टन कोयला डिस्पैच हासिल किया है जोकि पिछले वित्तीय वर्ष 2022-23 की छमाही में 12.69 मिलियन टन (17.29%) अधिक रहा है। इसी छमाही में कंपनी ने पावर सेक्टर को 69.77 मिलियन टन कोयला भेजकर अब तक के सर्वाधिक के आंकड़े को छुआ है। वहीं सितंबर माह की बात करें तो कंपनी ने डिस्पैच के पिछले वर्षों के सारे आंकड़ों को पीछे छोड़ते हुए 12.90 मिलियन टन कोयला डिस्पैच किया है। सितंबर 2022 की तुलना में कंपनी ने डिस्पैच में भी 19.04% की वृद्धि दर्ज की है।

विदित हो कि कंपनी ने हाल ही में समाप्त हुए वित्तीय वर्ष 22-23 में अपने इतिहास का सर्वाधिक 167 मिलियन टन कोयला उत्पादन दर्ज किया है। वित्तीय वर्ष 23-24 के लिए कंपनी को 200 मिलियन टन वार्षिक उत्पादन का लक्ष्य मिला है।

जनसंपर्क अधिकारी
एसईसीएल बिलासपुर