चुटकियों में पहचान लेंगे आप, आम पेड़ में पका या केमिकल से पकाया?

स्वास्थ्य

कुछ दुकानदार अपने मुनाफे के लिए आमों को केमिकल के जरिए पका कर बेचते हैं.

केमिकल से पके हुए आम सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं होते हैं. ऐसे में इन आमों की खरीदारी करने से बचना बेहद जरूरी है. आइए जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स के बारे में जिसकी मदद से आप असली आम की पहचान कर सकते हैं.

बकेट टेस्ट

सही आम की पहचान करने के लिए एक बकेट में पानी लें और उसमें धीरे-धीरे आम डालें. अगर आम पानी में डूबने लगते हैं तो वे नैचुरली पके हुए हैं. वहीं, अगर आम पानी में तैरने लगते हैं तो वह केमिकल द्वारा पके हुए हैं.

कलर चेक करें

सही आम पहचानने का यह सबसे आसान तरीका हो सकता है. जो आम नैचुरली पके हुए होते हैं उनका रंग पूरे तरीके से पीला होता है. वहीं केमिकल से पके हुए आम पर हरे रंग के धब्बे होते हैं.

आम के अंदर का रंग

इस टेस्ट की मदद से आम को पहचानने के लिए फल को दो हिस्से में काट लें. अगर आम नैचुरली तरीके से पका हुआ है तो अंदर से उसका रंग ग्रीन से पीला या ऑरेंज होते हुए दिखेगा. अगर आम की जड़ और सफेद रंग नजर आती है तो वह केमिकल की मदद से उगाए गए हैं.

आम को दबाकर देखें

अगर दबाते वक्त आम सॉफ्ट मालूम पड़ रहा है तो यह सही आम है. केमिकल द्वारा पके हुए आम दबाने कठोर मालूम पड़ते हैं.

आम को खाकर देखें

आमतौर पर नैचुरली तरीके से पका हुआ आम स्वाद में बेहद स्वादिष्ट होता है. वहीं, केमिकल के मदद से पके हुए आम स्वाद में फीखें होते हैं.