छत्‍तीसगढ़ के सभी संभागों में अब दिव्यांग कालेज खोले जाएंगे : लक्ष्मी राजवाड़े

छत्तीसगढ़ राज्य

रायपुर  । छत्‍तीसगढ़ के सभी संभागों में अब दिव्यांग कालेज खोले जाएंगे। महिला एवं बाल विकास और समाज कल्याण मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े ने इसकी घोषणा की। उन्होंने बताया कि इस योजना को लेकर मुख्यमंत्री से चर्चा की जाएगी। वर्तमान में,  रायपुर में ही एकमात्र दिव्यांग कालेज है, जबकि 33 में से लगभग 21 जिलों में दिव्यांगों के लिए स्कूल संचालित हो रहे हैं। प्रदेश के सभी जिलों में दिव्यांग स्कूल खोलने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। इसके साथ ही, कौशल विकास और व्यावसायिक शिक्षा भी प्रदान की जाएगी।

मंत्री राजवाड़े ने बताया कि प्रदेश में विभिन्न श्रेणियों के लगभग सात लाख दिव्यांग जन हैं। वर्तमान में कालेज नहीं होने के कारण, बारहवीं के बाद कई दिव्यांग बच्चे पढ़ाई छोड़ने को मजबूर हो जाते हैं। इसके मद्देनजर, स्कूल और कालेज की संख्या बढ़ाने की मांग की गई है। उम्मीद जताई जा रही ह कि दिव्यांग कालेजों को नए शिक्षण सत्र में मंजूरी मिलेगी। इससे पहले यह अगले वर्ष के बजट प्रविधानों में शामिल हो सकता है। प्रदेश में सात लाख दिव्यांग जनों के लिए कालेजों की अनिवार्यात लंबे समय से अनुभव की जा रही है।